• संवाददाता

पौधे का पालन परिवार के सदस्य की तरह करें: आशीष पटेल

लखनऊ। मंत्री, प्राविधिक शिक्षा, उपभोक्ता एवं बाट माप विभाग उत्तर प्रदेश आशीष पटेल ने मंगलवार को वृक्षारोपण जनांदोलन कार्यक्रम के अन्तर्गत फीता काटकर एवं बुडढाखेडा पुण्डीर में मौलश्री का पौधा रोपित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया।

मंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री के विज़न को पूरा करने के लिए तथा मुख्यमंत्री के दिशा निर्देशों में पूरे प्रदेश में 35 करोड़ पौधे लगाये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसी कडी में जनपद सहारनपुर के लिए प्रदेश सरकार के प्रतिनिधि के रूप में मैं स्वयं उपस्थित हुआ हूँ। उन्होने पेडों की महत्ता मनुष्य के जीवन चक्र में बताते हुए कहा कि भोजन और पानी के बाद ऑक्सीजन प्राप्त करने के लिए यही एकमात्र साधन है। उन्होने कहा कि ओजोन परत को सुरक्षित रखने में भी इसकी महत्ता है। इस अवसर पर मंत्री ने कहा कि सभी यह संकल्प लें कि वो पौधा रोपित करेंगे और उसको जीवित रखने के लिए अपने बच्चों की तरह ही उसकी देखभाल करेंगे। यदि अगले वर्ष तक 90 प्रतिशत पौधे जीवित रख सके तो यह हमारी समाज और पर्यावरण को सबसे बडी देन होगी। उन्होने डीएफओ को निर्देश दिए कि पौधों को जीवित रखने की जिम्मेदारी आपकी है। उन्होने एक सामाजिक दायित्व के तहत जिलाधिकारी से कहा कि यदि कोई वृक्ष काटने की इजाजत मांगता है तो उससे वृक्ष भी लगवाएं। एनसीसी के बच्चों से उन्होने कहा कि आप लोग अपने विद्यालय में पौधे का रोपण करे और भाई-बहन की तरह उसका ख्याल रखें। माताओं से भी उन्होने अनुरोध किया एक पौधा दें और बेटी से मायके आने पर कहें कि इस फल लेकर आना। मंत्री ने कहा कि जब सहारनपुर हरा-भरा होगा तो उत्तर प्रदेश स्वतः ही हरा-भरा हो जायेगा।