• ब्यूरो

चिनहट : डॉ संदीप जायसवाल को गोली मारने वाले अभियुक्त गिरफ्तार


लखनऊ। चिनहट में डॉक्टर को गोली मारने वाले अभियुक्तों को पुलिस ने गिरफ्तार किया। बालाजीपुरम निवासी डॉ. संदीप जायसवाल को गोली मारने वाले युवकों को जेल भेज दिया गया है और साथ ही उनके पास से असलहा भी बरामद कर लिया गया है। l एडीसीपी पूर्वी एसएम कासिम आब्दी ने बताया कि 25 मई को डॉ. संदीप जायसवाल पर जानलेवा हमला हुआ था। उनका इलाज एक निजी अस्पताल में चल रहा है। डॉ. संदीप का सर्वोदयनगर में हर्षित ट्रॉमा सेंटर के नाम से अस्पताल है। 25 मई की रात को उन पर अस्पताल से वापस आते समय घर केपास फार्च्यूनर सवार बदमाशों ने हमला करने वाले दो सगे भाई आमिर चौधरी व राशिद चौधरी को पुलिस ने मंगलवार देर रात देवा रोड से गिरफ्तार किया है। दोनों मूलरूप से मेरठ के पिकौर के रहने वाले हैं। लखनऊ के इंदिरानगर में रहकर इंटीरियर डिजाइनिंग का काम करते हैं। दोनों ने अपने भाई खालिद को अप्रैल में बीमार हालत में हर्षित अस्पताल में भर्ती कराया। पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि डॉ. संदीप और उनके कर्मचारियों की लापरवाही के कारण खालिद की हालत ज्यादा खराब हो गई। इसके बाद उन्हें दो मई को कानपुर रोड स्थित एक निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उसकी सात मई को मौत हो गई। इलाज के दौरान कानपुर रोड स्थित अस्पताल के चिकित्सकों ने पुराना पर्चा मांगा था। जिसे देखकर दवाओं केबारे में आमिर और राशिद को बताया कि जो दवा चल रही थी, उसी के कारण हालत और खराब हुई है। मौत के बाद पूरा परिवार अंतिम संस्कार करने के लिए चला गया। हमलावरों ने डॉ. संदीप जायसवाल से इसकी शिकायत की। आरोप लगाया कि डॉक्टर ने इलाज में लापरवाही की जिससे उनकी मौत हो गई। आरोपी आमिर व राशिद ने बताया कि इलाज के नाम पर ढाई लाख रुपये वसूले गए थे। कई बार गलत इलाज की शिकायत की गई लेकिन डॉक्टर अपनी और कर्मचारियों की गलतियों को मानने के बजाय धमकी देने लगा। वारदात की रात डॉक्टर से अस्पताल में भी बातचीत की थी। डॉक्टर नाराज होकर निकल गए। गुस्से में फार्च्यूनर से उनका पीछा किया। बालाजीपुरम कॉलोनी में पहुंचने के बाद ओवरटेक कर रोका। वहां पर इलाज के लिए बहस हुई। डॉक्टर ने कहासुनी के दौरान कहा कि तुम लोग जो चाहो कर लो। इसके बाद डॉक्टर से हाथापाई होने लगी। नाराजगी में डॉक्टर को गोली मार दी। प्रभारी निरीक्षक चिनहट धनंजय पांडेय के मुताबिक, आरोपियों के पास से वारदात में प्रयुक्त असलहा और फार्च्यूनर कार भी बरामद कर लिया गया है। बुधवार को पूछताछ के बाद दोनों को जेल भेज दिया है। वारदात में शामिल दो अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है।