• ब्यूरो

हम भारतीय हैं, हिन्दुत्व हमारी सांस्कृतिक पहचान है: योगी

राहुल व कांग्रेस पर जमकर बरसे योगी

अमेठी, सोशल टाइम्स। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कांग्रेस सांसद राहुल गांधी पर वार करते हुए कहा कि यहां पहले राज करने वाले हिन्दू और हिन्दुत्व को अलग समझते हैं। इनके पूर्वज कहते थे कि वह एक्सीडेंटल हिन्दू हैं, वह हिन्दू बोल भी नहीं सकते। उन्होंने तो दुर्भाग्य से भारत में जन्म ले लिया। आपके पूर्व सांसद जब बाहर जाते हैं तो भारत के खिलाफ बोलते हैं और जब केरल जाते हैं तो अमेठी के खिलाफ। इतना खुदगर्ज किसी को नहीं होना चाहिए। भारतीय परंपरा कितनी समृद्ध है कि वह जाति व धर्म नहीं देखती।

अमेठी में सोमवार को राजकीय मेडिकल कालेज, जिला स्तरीय चिकित्सालय के लोकार्पण तथा भाजपा की जन विश्वास यात्रा के दौरान आयोजित जनसभा को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री योगी कहा कि हमारा कोई छुपा एजेंडा नहीं है। जब हम सरकार में है तब भी जब नहीं थे तब भी कहते रहे हैं कि गर्व से कहो हम हिन्दू हैं। लेकिन वह लोग देश की सांस्कृतिक परपंरा को नहीं जानते इसीलिए इन्होंने सत्ता के लालच में देश का विभाजन करवाया और कश्मीर में धारा 370 लगाई तो राममंदिर में ताला लगवाया और हमेशा रामसेतु को तोड़ने के लिए लालायित रहते थे। हम भारतीय है हिन्दुत्व हमारी सांस्कृतिक पहचान है। यह लोग सोमनाथ और राममंदिर के मंदिर का विरोध करते थे। कुछ लोग तो कहते थे कि अयोध्या में परिंदा भी पर नहीं मार सकता और गोली चलवाने का काम किया था। लेकिन आपकी ताकत के आगे यह परास्त हो चुके हैं यह लोकतंत्र की ताकत है कि यही राममंदिर बनाने की बात करने लगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज की लड़ाई ही है निर्माण और विध्वंस करने वालों के बीच। आपने इतिहास में सुना होगा कि जिन श्रमिकों ने ताजमहल का निर्माण किया तो उनके हाथ काट दिए गए थे आज श्रीकाशी विश्वनाथ धाम बनाने वालों पर प्रधानमंत्री पुष्पवर्षा करते हैं।

उन्होंने कहा कि जब कोरोना काल था हम और हमारी सरकार लोगों के बीच जीवन और जीविका बचाने का काम कर रही थी। वहीं सरकार के काम में विघ्न डालने के लिए यहां के नेता ने दूसरे प्रदेश से श्रमिकों को वापस लाने के लिए एक हजार बसों का नम्बर दिया। जब हमारी सरकार ने उस सूची की जांच कराई गई तो उसमें स्कूटर और कबाड़ी के यहां पड़ी गाड़ी का नम्बर निकला। कांग्रेस फर्जी बस और स्कूटर का नम्बर देकर जनता के साथ खिलवाड़ कर रही थी। यह लोग तब अव्यवस्था फैलाना चाहते थे। उस समय सपा और कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष से लेकर प्रदेश अध्यक्ष या सामान्य कार्यकर्ता जनता के बीच नहीं था। जब चुनाव की दस्तक सुनाई दी तो यह चुनावी पर्यटन के लिए निकल पड़े हैं। उन्होंने कांग्रेस पर तंज कसते हुए कहा कि हमने गरीबी हटाओ का तो नारा नहीं दिया। हमारे प्रधानमंत्री ने तो सबका साथ और सबका विकास का नारा दिया।