• संवाददाता

देहरादून: महिला ने लगाया आबकारी अधिकारी पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप

गुरुग्राम में महिला ने दी तहरीर, डालनवाला में मुकदमा दर्ज

देहरादून, सोशल टाइम्स। गुरुग्राम की रहने वाली एक महिला ने जिले के आबकारी अधिकारी पर शादी का झांसा देकर दुष्कर्म करने का आरोप लगाया है। मामले की तहरीर गुरुग्राम में दी गयी थी। गुरुग्राम पुलिस ने जीरो एफआईआर दर्ज कर मामला डालनवाला ट्रांसफर किया है। डालनवाला पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। आरोपी पहले देहरादून में जिला आबकारी अधिकारी रह चुका है।

पीड़ित महिला ने बताया कि वर्ष 2015 में उसका पति से तलाक हो गया था। वह दूसरी शादी करनी चाहती थी। उसके दो बच्चे हैं, जो देहरादून में पढ़ते थे। वह गुरुग्राम में अकेली रहती है और जॉब करती है। दूसरी शादी के लिए उसने मैट्रीमोनियल साइट और डेटिंग एप डाउनलोड किया था। एक सोशल एप पर वर्ष 2016 से परास नाम से उसके लिए काफी मैसेज आते थे। वह उससे बात करना चाहता था। उसने कहा कि वह एक अच्छा इंसान है और वह उस पर भरोसा कर सकती है। इसके बाद उसने उसे प्रपोज कर अपनी डिटेल भेजी। जिसमें उसने बताया कि उसका नाम मनोज कुमार उपाध्याय है और वह सरकारी नौकर है और वह गोरखपुर का है। इसके बाद उसने शादी का भरोसा दिलाया। कहा कि उसका अपनी पत्नी से तलाक का मैटर चल रहा है और वह अपने आठ साल के बेटे के साथ अपने माता-पिता के साथ लखनऊ में रहती है। कहा कि तलाक होने के बाद वह शादी कर देंगे। महिला के मुताबिक जब उसने उससे सरकारी नौकरी का आईडी कार्ड मांगा तो उसके पास आबकारी विभाग के अधिकारी की आईडी थी। इसके बाद वह उस पर भरोसा करने लगी और उसे अपने और अपने बच्चों के बारे में पूरी जानकारी दे दी। भरोसा जीतने के लिए आरोपी ने उसकी बेटी को गिफ्ट भेजा और बच्चे के बर्थडे में भी आया। उसने बेटे के बर्थडे के लिए एक होटल भी बुक कराया था।

आगे महिला के मुताबिक वर्ष 2017 में वह उसे मसूरी घूमाने ले गया। जहां वह दो दिन रुके। यहां उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए। इसके बाद उसने दिल्ली की फ्लाइट बुक कराकर उसे एयरपोर्ट ड्राप कर दिया। वर्ष 2017 में उसके घर गुरुग्राम भी आया। यहां भी उसने संबंध बनाए। भरोसा दिलाया कि वह जरूर उससे शादी करेगा। महिला ने आरोप लगाया कि भरोसा जीतने के लिए उसने उसे महेंद्रा कोटक की चार-पांच पॉलिसी भी दिलाईं, लेकिन इसके बाद वह उससे दूरी बनाने लगा और बात करने से मना करने लग गया। महिला के मुताबिक उसके बच्चे देहरादून में पढ़ते थे इसलिए वह उससे डर गई और शिकायत नहीं कर पाई। वह उसे डराने धमकाने लगा। वर्ष 2019 में उसकी लड़की की पढ़ाई देहरादून से खत्म हो गई। इसके बाद ही वह शिकायत कर पाई।