• ब्यूरो

पीडि़त महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने के सम्बन्ध में महिला आयोग की बैठक

स्वाति सिंह व विमला बाथम ने की अध्यक्षता

लखनऊ, सोशल टाइम्स। मंगलवार को उ.प्र. राज्य महिला आयोग के सभागार कक्ष में स्वाती सिंह, राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) महिला कल्याण विभाग, बाल विकास पुष्टाहार विभाग व विमला बाथम, अध्यक्ष, उ.प्र. राज्य महिला आयोग की अध्यक्षता में महिला आयोग के पदाधिकारियों के साथ महिलाओं के लिए संचालित कल्याणकारी योजनाओं, पीडि़त महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने के सम्बन्ध में एक बैठक आहूत की गयी। बैठक का शुभारम्भ राज्य मंत्री स्वाती सिंह, अध्यक्ष विमला बाथम, उपाध्यक्ष सुषमा सिंह, अंजु चौधरी, प्रमुख सचिव वी. हेकाली झिमोमी, सदस्य सचिव अर्चना गहरवार द्वारा दीप प्रज्जवलित कर किया गया। बैठक में महिला कल्याण विभाग की विशेष सचिव गरिमा यादव, निदेशक महिला कल्याण विभाग मनोज कुमार राय, उपस्थित रहे। स्वाती सिंह द्वारा महिलाओं के कल्याण के लिए चलायी जा रही विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं का लाभ पात्र महिलाओं को दिलाये जाने, पीडि़त महिलाओं को त्वरित न्याय दिलाये जाने की आवश्यकता पर विस्तार से चर्चा की गयी। मंत्री द्वारा महिला कल्याण विभाग एवं महिलाओं के कल्याणार्थ कार्यरत विभिन्न विभागों के बीच समन्वय स्थापित करने की अपेक्षा की गयी जिससे विभिन्न योजनाओं का लाभ पात्र महिलाओं को यथाशीघ्र दिलाया जा सके। वहीं विमला बाथम ने मुख्यावास स्तर पर विभिन्न जनपदों में आयोग द्वारा आयोजित की जाने वाली स्थलीय जनसुनवाई, जागरूकता कार्यक्रम एंव सेमिनार आदि के सम्बन्ध में जानकारी दी। बैठक में उपस्थित आयोग के पदाधिकारियों एवं अधिकारियों द्वारा उक्त विषय में अपने विचार प्रस्तुत किये।

सदस्य सचिव अर्चना गहरवार द्वारा बैठक में उपस्थित सभी पदाधिकारियों का धन्यवाद कर बैठक का समापन किया गया। बैठक में उ.प्र. राज्य महिला आयोग की सदस्य अनीता सिंह, सुमन चतुर्वेदी, इन्द्रवास सिंह, सुनीता बंसल, निर्मला द्विवेदी, राखी त्यागी, डॉं. कंचन जायसवाल, पूनम कपूर, मनोरमा शुक्ला, ऊषारानी, कुमुद श्रीवास्तव, मिथिलेश अग्रवाल, रंजना शुक्ला, अंजू प्रजापति, वित्त एवं लेखाधिकारी स्वाती वर्मा व अन्य गणमान्य पदाधिकारी/अधिकारीगण उपस्थित रहे।