• ब्यूरो

कांग्रेस, सपा और बसपा होती तो राममंदिर और काशी विश्वनाथ धाम का सपना कभी पूरा नहीं होता: योगी

वृज क्षेत्र से जुड़े बूथ अध्यक्षों के सम्मेलन को किया संबोधित

एटा , सोशल टाइम्स। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अगर कांग्रेस, सपा और बसपा होती तो राममंदिर और काशी विश्वनाथ धाम का सपना कभी पूरा नहीं होता। क्या सपा की सरकार के समय अयोध्या में राममंदिर बन पाता। यह जब सत्ता में थे तब कुछ किया नहीं अब कह रहे हैं कि ये तो हम भी करना चाहते थे। देश दुनिया कोरोना प्रबंधन पर केन्द्र और राज्य सरकार की तारीफ कर रही है लेकिन यह कोरोना काल में क्वारंटीन होने वाली पार्टी के नेता दुष्प्रचार करने में जुटे हैं।

भारतीय जनता पार्टी बृज क्षेत्र के बूथ अध्यक्ष सम्मेलन को रविवार को सम्बोधित करते हुए योगी ने कहा कि जो समाजवादी पार्टी की सत्ता में व्यापारियों का अपहरण करते थे, गरीबों के अनाज को हड़प जाते थे। वह आज मारे-मारे फिर रहे हैं। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस, सपा और बसपा होती तो भव्य राम मंदिर और काशी विश्वनाथ धाम का सपना कभी पूरा नहीं हो पाता। हमारी सरकार के कार्यों से आप खुश हैं यही काफी है। बुआ-बबुआ नाउम्मीद हैं उन्हें जनता अब नाउम्मीद ही रहने देगी। इन लोगों के पास जब सत्ता थी तब कुछ किया नहीं अब कह रहे हैं कि ये तो हम भी करना चाहते थे। उन्होंने कहा कि जब कोरोना महामारी थी तब सभी पार्टियां घरों में दुबकी थी अब जब चुनाव आ रहा है तो चौराहों पर बोली बोलते नजर आ रहे हैं। आज हमारी डबल इंजन की सरकार ने मुफ्त राशन वितरण अभियान की डबल डोज शुरू की है। जिससे प्रदेश के लगभग 15 करोड़ लोग लाभान्वित होंगे। पहले भी राशन की देश में कोई कमी नहीं थी। लेकिन पिछली सरकारों की नीयत खराब थी। यही खाद्यान्न पहले खाद्यान्न माफियाओं के पास चला जाता था। वो गरीबों के राशन को बेच देते थे और गरीब टकटकी लगाए देखता रहता था।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज बहन बेटियों की सुरक्षा की जा रही है, कहीं मेडिकल कालेज बन रहा है, कहीं अस्पताल बन रहा है, कहीं बिजली के सब स्टेशन बन रहे हैं, विकास के बड़े-बड़े कार्य किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि 18 तारीख को इसी वृज क्षेत्र में प्रधानमंत्री मोदी जी देश के सबसे बड़े गंगा एक्सप्रेस वे की नीवं रखने जा रहे हैं। तब कई नेता कहेंगे यह सपना तो हमने भी देखा था लेकिन बना नहीं पाए। हमारे विकास कार्यों को देखकर कुछ लोगों को विकास को लेकर दौरे पड़ने लगते हैं।